Counsellor Dinesh Pathak, Journalist Dinesh Pathak, Counsellor in Lucknow, Parenting Counsellor Dinesh Pathak, Child Counselor in Lucknow, Best Parenting Counselor in Lucknow, Marriage Counselor in Lucknow, Counselor In UP, Parenting Counselor in UP, Freelance journalist and Counselor Dinesh Pathak.

कुबूलनामा

कुबूलनामा पाँच : कन्फ्यूज हूँ, इस दोस्ती को क्या नाम दूँ?

दिनेश पाठक वह बहुत चालाक हैं| मैं इस बात को भली-भांति जानता था| वे पहुँचती वहीँ जहाँ से उनका मतलब बन रहा होता| सब कुछ जानने के बाद भी देखता मैं भी था लेकिन कनखियों से क्योंकि डर लगता था कि कहीं कोई देख न ले| मेरी मंशा भांप न …

Read More »

कुबूलनामा चार : पत्नी, वो और हँसी-ख़ुशी के 22 बरस

उनसे मेरी मुलाकात एक हादसे के साथ हुई| कह सकते हैं कि हादसे में उनकी प्रमुख भूमिका भी रही| क्या बताऊँ, कैसे बताऊँ, और न बताऊँ तो क्यों न बताऊँ? असल में यह बात कोई 22 वर्ष पुरानी है| उन दिनों मैं भगवन श्रीराम की जन्मभूमि अयोध्या में था| रक्तदान …

Read More »

कुबूलनामा-एक : उत्तरकाशी की यात्रा में मैं, वो और उनकी अदाएँ

बात थोड़ी पुरानी है| मैं उत्तराखण्ड में उत्तरकाशी जिले के भ्रमण पर था| तभी अचानक मेरी नजर पड़ी| वह इठलाती, बलखाती चली आ रही थी| देख वह भी रही थी मुझे पूरे मनोयोग से और मैं तो खैर अपलक निहारे ही जा रहा था| पलक झपका भी हो तो मुझे …

Read More »

कुबूलनामा-तीन : प्यार हो तो काली साड़ी विद पीला-सफेद बॉर्डर वाली से, नहीं तो न हो

एकदम टटका कॉलेज से निकला था| उम्र अल्हड़ थी| जीवन की ऊँच-नीच से वाकिफ़ नहीं था| जो दोस्त कहें वही सही| कुछ सीनियर्स के साथ बैठकी चल रही थी| वे अक्सर काली साड़ी विद पीला-सफ़ेद बॉर्डर की बातें करते| समझ नहीं आ रहा था कुछौ| पूछ बैठे तो पड़ा कंटाप| …

Read More »