Counsellor Dinesh Pathak, Journalist Dinesh Pathak, Counsellor in Lucknow, Parenting Counsellor Dinesh Pathak, Child Counselor in Lucknow, Best Parenting Counselor in Lucknow, Marriage Counselor in Lucknow, Counselor In UP, Parenting Counselor in UP, Freelance journalist and Counselor Dinesh Pathak.

Bas Thoda Sa

भावी पीढ़ी को समर्पित अभियान ‘बस थोड़ा सा’ एक ऐसी मुहिम है, जिसका रिश्ता बच्चों से है तो उनके मम्मी-पापा से भी है| दादा-दादी और नाना-नानी से भी है| शिक्षकों से भी इस मुहिम का गहरा रिश्ता है| इस तरह आप कह सकते हैं कि समाज के हर तबके से इसका रिश्ता है| पीढ़ियों से रिश्ता है| बच्चों के लालन-पालन के बहाने यह रिश्तों को जोड़ने की बात भी करता है|

‘बस थोड़ा सा’ के कर्ता-धर्ता / संयोजक वरिष्ठ पत्रकार श्री दिनेश पाठक हैं, जो प्रतिष्ठित हिंदुस्तान अखबार के सम्पादक के रूप में कई केन्द्रों पर काम कर चुके हैं| पत्रकारिता के साथ ही वे बीते 18 वर्षों से लगातार स्कूल-स्कूल जाकर स्टूडेंट्स, पैरेंट्स, टीचर्स से बातचीत करते आ रहे हैं| इस बातचीत में वे स्टूडेंट्स को पढ़ाई के तरीके, परीक्षा की तैयारी आदि मुद्दों पर मदद करते हैं तो पैरेंट्स से होने वाली छोटी-छोटी ऐसी चूक की ओर ध्यान दिलाते हैं जो मम्मी-डैडी अनजाने में कर रहे हैं| उसका समाधान भी बताते हैं| अपनी क्लास में वे शिक्षकों से कहते हैं कि दुनिया का सबसे बेहतरीन काम आप ही कर रहे हैं| मतलब, यह कि सबसे बातचीत का लब्बो-लुआब यह है कि देश की भावी पीढ़ी मजबूत हो| देश के बारे में अच्छा सोचे| समाज के बारे में अच्छा सोचे| श्री पाठक को इस मुद्दे पर जबरदस्त समर्थन भी मिल रहा है|

पैरेंटिंग पर उनकी अब तक चार किताबें हैं| उन्हीं में से एक किताब है ‘बस थोड़ा सा’| इसी पर उत्तर प्रदेश दूरदर्शन ने धारावाहिक बनाया है, जो प्रसारित भी हो चुका है| सात एपिसोड और बन रहे हैं| आल इंडिया रेडियो भी इसी किताब पर अलग से धारावाहिक बना रहा है| उत्तर प्रदेश उर्दू एकेडमी भी इसे अपने स्तर पर उर्दू में छापने जा रही है| अंग्रेजी का अनुवाद चल रहा है| मराठी, गुजराती, असमिया, बांग्ला में बातचीत अंतिम चरण में है| देश की अन्य भाषाओँ में भी इस किताब को प्रकाशित कराने के प्रयास चल रहे हैं| अब समाज के लोग यह मानने लगे हैं कि इस किताब की जरूरत देश के हर घर में है| क्योंकि इसमें बच्चों के लालन-पालन से लेकर उनके विकास को लेकर ढेरों ऐसी छोटी-छोटी चीजें दर्ज हैं, जो समाज के लिए बेहद उपयोगी साबित हो रही हैं| श्री पाठक का उपयोग मम्मी-डैडी अपने पाल्यों के लिए कर रहे हैं तो स्कूल भी उत्साहित होकर उन्हें बुलाना चाहते हैं| काउंसलर के रूप में दिनेश जी को रेडियो, दूरदर्शन तो बुलाते ही हैं, कई अखबार उनके कॉलम भी छाप रहे हैं| पत्र-पत्रिकाओं के जरिए उनकी बात जन-जन तक पहुँच रही है|

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने लेखक श्री पाठक को भेजे अपने पत्र में लिखा है-बस थोड़ा सा पुस्तक पाकर प्रसन्नता हुई| भावी पीढ़ी के विकास पर केन्द्रित आपका यह प्रयास प्रशंसनीय है| अभिभावकों और बच्चों के बीच बेहतर तालमेल सुखद भविष्य की नींव तैयार करता है| पुस्तक में इस विशेष रिश्ते को व्यावहारिक रूप से प्रस्तुत करने और भावी पीढ़ी की जरूरतों को समझने का अच्छा प्रयास किया गया है| मुझे उम्मीद है कि यह पुस्तक पाठकों के लिए उपयोगी सिद्ध होगी| केन्द्रीय गृहमंत्री श्री राजनाथ सिंह, प्रख्यात सन्त श्री सुधांशु जी महराज समेत कई महत्वपूर्ण हस्तियों ने इस मुहिम का समर्थन किया है|

सहज, सरल श्री दिनेश पाठक सर्वसुलभ हैं| वे बच्चों के लिए कुछ भी करने को तैयार देखे जाते हैं| कोई भी माता-पिता, स्कूल, शिक्षक उनकी सीढ़ी मदद ले सकते हैं|

संपर्क-

dpathak0108@gmail.com

+91 9756705430 / +91 9415014100

 

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com